महज 1 शिक्षक के भरोसे चल रहा यह विद्यालय, छात्रों की संख्या भी चिंतनीय

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/लातेहार: शिक्षा की बेहतरी का ढिंढोरा तो सभी पीटते हैं लेकिन धरातल पर कितनी योजनाएं मूर्त रूप ले पाती हैं। इसका तो भगवान ही मालिक है। सरकारी विद्यालयों की दुर्दशा, उपेक्षा की तो आए दिन चर्चा होती है। बावजूद इसके इस मुद्दे के प्रति कोई गंभीरता नजर नहीं आती। तभी तो लातेहार जिला मुख्यालय का राजकीय बुनियादी विद्यालय, धर्मपुर पिछले 11 सालों से सिर्फ एक शिक्षक के भरोसे है। पहले दो शिक्षक हुआ करते थें। तब छात्रों की संख्या करीब 200 थी। अब सिर्फ 77 छात्र रह गए हैं।

जिनमें से सिर्फ 12-13 ही स्कूल आते हैं। यह अलग बात है कि स्कूल में शिक्षकों का स्वीकृत पद 11 है। लेकिन एक दशक से यहां सिर्फ एक शिक्षक ही पदस्थापित है। आश्चर्य तो यह है कि स्कूल से महज 250 मीटर की दूरी पर ही डीसी और जिला शिक्षक अधीक्षक का कार्यालय है। इस संबंध में शिक्षक सह प्रधानाध्यापक बलराम उरांव का कहना है कि विद्यालय में मात्र 77 बच्चे ही नामांकित हैं। इनमें से 50-55 बच्चों की नियमित उपिस्थति रहती है। उन्होंने कहा कि कि पिछले 11 वर्षों से वे एक मात्र शिक्षक इस विद्यालय में हैं।

इसलिए एक शिक्षक के भरोसे विद्यालय में पठन पाठन कैसा होगा? इस कारण अधिकांश बच्चे दूसरे विद्यालय चले गए। पहले इस विद्यालय में बच्चों की संख्या अधिक थी। लेकिन धीरे-धीरे यह संख्या कम होती चली गयी। उन्होंने बताया कि 2012 तक इस विद्यालय में उनके अलावा एक और शिक्षक (सुखदेव सिंह) पदस्थापित थें। लेकिन उनका असामयिक निधन हो गया और इस विद्यालय में दूसरे शिक्षकों की पदस्थापना नहीं हो पायी। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति के लिए कई बार उच्चाधिकारियों से पत्राचार किया गया। लेकिन स्थिति जस की तस बनी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!