शर्मनाक! सिजेरियन कर महिला को बंद किया तहखाने में, जानिए पूरा मामला

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/गढ़वा: जिले से एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है। जहां चंद पैसों के लिए झोलाछाप डॉक्टर प्रसूता की सिजेरियन डिलीवरी करवा रहे। इतना ही नहीं सिजेरियन के बाद महिला को एक तहखाने में बंद रखा गया था। दरअसल, गढ़वा थाना क्षेत्र के बघमनवां में अवैध रूप से संचालित लाइफ केयर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में गढ़वा एसडीओ राज महेश्वरम, सिविल सर्जन डॉ अनिल कुमार व स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम प्रवीण कुमार सिंह के नेतृत्व में छापेमारी की गई। जिसमें अस्पताल के तहखाने में मरीज को रखकर इलाज करते पाया गया। महिला की पहचान डंडई थाना क्षेत्र के रारो गांव निवासी समाजदेव प्रजापति की पत्नी देवंती देवी के रूप में हुई है। देवंती को 5 सितंबर को सिजेरियन कर प्रसव कराया गया था।

बताया जा रहा है कि प्रसूता को एक सहिया ने इस हास्पिटल में लाया था। जहां सिजेरियन कर उसका मृत बच्चा निकाला गया था। इसके बाद उसे हॉस्पिटल के पिछले हिस्से में बने तहखाने में रखकर बाहर से ताला बंद कर दिया गया था। ताकि कोई यह न जान पाए कि अस्पताल चालू है। लेकिन डीसी रमेश घोलप को इस संबंध में गुप्त सूचना मिली तो उन्होंने एसडीएम और सिविल सर्जन के नेतृत्व में एक टीम गठित कर ऑपरेशन सुचिता के तहत छापेमारी करवाई। छापेमारी के दौरान वहां के हालात देखकर अधिकारी भी दंग रह गए। स्वास्थ विभाग की टीम ने तुरंत महिला मरीज को रेस्क्यू कर उसे सदर अस्पताल में भर्ती करवाया। वहीं फर्जी क्लिनिक को सील कर संबंधित लोगों पर सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई।

गौरतलब है कि गढ़वा डीसी रमेश घोलप ने जिले में स्वास्थ व्यवस्था को दुरुस्त करने को लेकर एक अभियान चला रखा है जिसके तहत जिले में 117 निजी क्लीनिक को चिन्हित किया गया है। इन सभी निजी क्लीनिक की जांच की गई तो 37 क्लीनिक फर्जी पाए गएं। जहां अस्पताल तो है पर डॉक्टर नही है। इन फर्जी अस्पतालों ने अपना अपना लाइसेंस तो सरेंडर कर दिया है लेकिन चोरी छिपे अभी भी ऑपरेशन चल रहे है। इस संबंध में सिविल सर्जन ने कहा कि डीसी को मिली गुप्त सुचना के आधार की गई कार्रवाई में सूचना सही पायी गयी है। अब प्रसूता को सदर अस्पताल से रेफर करने वाले डॉक्टर,सहिया से स्पष्टीकरण लिया जायेगा और निजी अस्पताल के संचालक, गांव की सहिया सब पर मामला दर्ज किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!