दस लाख से बने तालाब की खुली पोल,निर्माण के तीन माह में ही टूटा बाँध, किसानों को हुवा भारी नुकसान

LIVE PALAMU NEWS
लाइव पलामू न्यूज/हेरहंज (लातेहार): हेरहंज प्रखण्ड क्षेत्र के तासु पंचायत अन्तर्गर्त हुन्ड्रा गांव में समेकित जनजाति विकास अभिकरण के माध्यम से दलदलिया दोहर में तीन माह पूर्व कराये गए तालाब जीर्णोद्धार की पोल दो दिन की बारिश ने खोलकर रख दी है। आपको बता दें कि दो दिनों की तेज बारिश में जीर्णोद्धार हुआ तालाब बह गया है। तालाब का मेढ़ बहने से किसानों को भारी क्षति हुई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त तालाब का जीर्णोद्धार लगभग दस लाख रुपये की लागत से कराई गई थी। जिसमे ठीकेदार और विभागीय अधिकारियों की साठ गांठ से  सरकारी राशियों का बन्दरबाट से इनकार नही किया जा सकता। विभाग द्वारा दस लाख रुपये की लागत से तालाब का कराये गए जीर्णोद्धार की पोल दो दिन की बारिश खोल कर रख दी है। जिस कदर तालाब का बांध टूटा है उससे स्पष्ट है कि तालाब जीर्णोद्धार में काफी अनियमितता बरते हुए कार्य किया गया है। जिसका खमियाजा किसानों को आज भुगतना पड़ रहा है।
करीब 25 से 30 फिट से अधिक बांध का हिस्सा टूट कर किसानों के खेत मे बाह गया और खेतों में लगे फसल को पूरी तरह बर्बाद हो गई। किसान विनोद साव, संजय राम, कोशिला देवी, उगन राम, सुरेश साव, नागेस्वर राम, रामजी राम, सुकन राम, राजेश राम, भोला राम बताते है कि उक्त तालाब का जीर्णोद्धार किसानों के फायदे के लिए हुवा था लेकिन विभागीय लापरवाही के कारण हम किसानों की कमर तोड़ कर रख दी अब इस लॉक डाउन में खेतों को कैसे तैयार किया जायेगा, और फसल कैसे होगी कैसे साल भर का खाना होगा।
यह चिंता किसानों को सताए जा रही है।किसान बताते है कि उक्त बांध की चौड़ाई पूर्व में चालीस फिट से अधिक थी परन्तु ठीकेदार ने उस आधा से अधिक हिस्से को काट दिया जिसके कारण हमलोग को परेशानी हुई है। यदि मिट्टी का कटाव नही होता तो बांध बहने से बच जाती। वही बांध की कटाई को लेकर ग्रामीणों द्वारा विरोध भी किया गया परन्तु कुछ नही हो सका। किसानों ने लातेहार उपायुक्त और बिभागीय अधिकारियों से उचित मुवावजे की मांग की है। साथ ही हेरहंज सांसद प्रतिनिधि को आवेदन भी दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!