#Palamu : मां के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकले 12 वर्षीय बच्चे की दर्दनाक मौत, शहर के इस व्यवसायी का था बेटा।।

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर : मेदिनीनगर शहर के कचहरी चौक पर एक दर्दनाक घटना घट गई। यह घटना रविवार सुबह 6:30 बजे की बताई जा रही है। इस घटना में शहर के प्रसिद्ध दुकानदार महावीर वस्त्रालय और बिछावन के भतीजे एवं आधुनिक मैचिंग सेंटर दुकान के बेटे वैभव सिंघानिया (12वर्ष) की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई। वैभव की मौत अग्निशामन वाहन की चपेट में आने से हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वैभव अपनी मां और छोटे भाई के साथ मॉर्निंग वॉक के लिए साइकिल से निकला था तभी वह अग्निशामन वाहन की चपेट में आ गया और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वहीं दूसरी ओर घटना से गुस्साए लोगों ने सड़क को पूरी तरह जाम कर दिया है। सड़क जाम होने से कारण फिलहाल उस क्षेत्र में वाहनों का आवागमन पूरी तरह बाधित है।

घटनास्थल पर रोती-बिलखती माँ

इधर घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीओ राजेश कुमार साह, एसडीपीओ सुरजीत कुमार, थाना प्रभारी अरुण महथा घटनास्थल पर पहुंचकर मामले को शांत कराने की कोशिस किये पर घटनास्थल पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी मौके पर डीसी एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े रहे और मुआवजा और सरकारी नौकरी के लिए लिखित मांगी की। मांग पूरी होने के बाद ही सड़क से जाम हटाने की बात कह रहे है। इधर व्यवसाई वर्ग की मांगो के बाद पलामू के उपायुक्त शशि रंजन एवं पलामू चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आनंद शंकर ने घटनास्थल पर पहुचकर परिजनों को आश्वस्त किया कि उनकी बातों पर गंभीरता से विचार किया जाएगा और उन्हें पूरा न्याय मिलेगा। पलामू के उपायुक्त ने बाद में पत्रकारों से बताया कि ऐसी घटना दोबारा ना हो इसके लिए चौक चौराहों पर सीसीटीवी लगाए जाने के लिए सुकृति दी जा चुकी है। शीघ्र सीसीटीवी काम करने लगेंगे पूर्व में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दोषी अग्निशामन चालक पर भी कार्रवाई होगी इसके बाद जाम को समाप्त कर दिया गया।

वाहन के साथ चालक ने किया सरेंडर

इधर, जानकारी मिली है कि बच्चे को धक्का मारने वाले अग्निशामन (फायर ब्रिगेड) के चालक ने वाहन के साथ शहर थाना में सरेंडर कर दिया है।

जनप्रतिनिधियों के घटनास्थल पर नहीं आने से व्यवसाई वर्ग में रोष

12 वर्षीय बच्चे वैभव की मौत के बाद घटना स्थल पर एक भी नेता, विधायक, मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों के घटनास्थल पर नही पहुंचने से व्यवसायी वर्ग में काफी रोष देखा गया। इस घटना से गुस्साए व्यवसायियों ने नेता के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि शहर में इतनी बड़ी घटना घट गई फिर भी एक भी नेता या मंत्री घटनास्थल पर परिजनों का हालचाल जानने नहीं आये जबकि कहीं फीता काटना हो या भाषण देने हो तो नेता सबसे पहले लाइन में खड़े रहते हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कुछ नेता के प्रतिनिधि तो आए लेकिन वह भी टालमटोल की बातें करने लगे जिस कारण उन्हें घटनास्थल से वापस भेज दिया गया।

पिछले वर्ष छत से गिरकर पिता का हुआ था मौत

बताते चलें कि पिछले वर्ष बच्चे के पिता सागर सिंघानिया के उसके घर के छत से गिरने के बाद मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद वैभव सिंघानिया ही घर और व्यवसाय देख रहा था। घटना कचहरी चौक पर सुबह करीब साढ़े 6 बजे हुई। फायर ब्रिगेड का वाहन शहर के रेड़मा में लकड़ी टाल में लगी आग को बुझाने के लिए तेज गति से जा रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि फायर ब्रिगेड के वाहन से सायरन नहीं बज रही थी। धक्का लगते ही बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई।

अधिकारियों के पास गुहार लगाते परिजन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!