#Palamu : पत्नी को फंसाने के लिए अधेड़ की साजिश, मुंह सील कर रेल पटरी पर फेंक देने का लगाया आरोप

LIVE PALAMU NEWS


लाइव पलामू न्यूज़ : पलामू जिले के उंटारी रोड थाना क्षेत्र में एक अधेड़ ने अपनी पत्नी को फंसाने के लिए बड़ी साजिश रची. उसने अपने मुंह को सील लिया और हाथ पैर बांधकर रेलवे लाइन किनारे पड़ा रहा. सुबह पुलिस और ग्रामीणों को बताया कि उसकी पत्नी और बेटे ने उसके साथ ऐसा अमानवीय व्यवहार किया. हालांकि पुलिस जांच में अधेड़ की साजिश नाकाम हुई और उसके करतूत सामने आ गए. पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुटी हुई है. घटना मंगलवार रात की है. बुधवार तक पुलिस और ग्रामीण इस मामले को लेकर कन्फ्यूजन में रहें. गुरुवार को पुलिस ने स्पष्ट किया की अधेड़ के साथ किसी तरह की कोई घटना नहीं हुई थी उसने स्वयं साजिश रच कर पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया था.
क्या है मामला…?
पलामू जिला मुख्यालय मेदनीनगर से 65 किलोमीटर दूर उंटारी रोड थाना क्षेत्र के भीतिहरवा में भोला राम की दो शादियां हुई हैं. पहली पत्नी की मौत हो चुकी है. उससे पांच छह बच्चे हैं. दूसरी पत्नी से 10 वर्ष हुई शादी के बाद उसे दो और संतान हुई. दूसरी पत्नी शादीशुदा थी और शादी से पहले से ही उसे एक लड़का है.

पुलिस के अनुसार भोलाराम अक्सर शराब पीकर पत्नी और बच्चे के साथ मारपीट करता था. इससे उसकी दूसरी पत्नी सविता देवी परेशान थी और पति को छोड़कर गांव में ही दूसरे जगह रह रही थी. यह सिलसिला करीब 1 वर्ष से चल रहा है. इसी बीच भोला की दूसरी पत्नी ने पति के प्रताड़ना को लेकर महिला थाना में मामला दर्ज कराया. इसकी जानकारी जब भोला को हुई तो उसने एक साजिश रची.
https://youtu.be/vVW-s_5aCq0
घटना स्थल को दिखाता बुजुर्ग
अधेड़ ने क्यों रची साजिश….?
विश्रामपुर के एसडीपीओ सुरजीत कुमार ने बताया कि भोला राम को जैसे ही मालूम चला कि उसकी दूसरी पत्नी ने महिला थाना में मामला दर्ज कराई है तो उसने पत्नी और बेटे को फंसाने के लिए साजिश रची. प्लानिंग के तहत उसने अपने मुंह को धागे से बंद किया और खुद से हाथ पांव नारियल की रस्सी से बांधा. साथ ही गांव के बगल से गुजरे रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक देने की साजिश रची.
मंगलवार की रात की घटना बताई गई. बुधवार की सुबह जब पुलिस मौके पर पहुंची तो भोला राम अपने घर में पाया गया. छानबीन के दौरान सामने आया कि भोला ने अपनी पत्नी और बेटे को फंसाने के लिए और पत्नी के द्वारा दर्ज कराए गए मामले से बचने के लिए ऐसी साजिश रची थी. इसके बाद भी पूरे मामले की छानबीन की जा रही है.
लंबे समय से चल रहा था पति पत्नी के बीच विवाद
उंटारी रोड के थाना प्रभारी शिव कुमार ने बताया कि भोला राम और उसकी पत्नी के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा था. पति के प्रताड़ना के खिलाफ महिला द्वारा मुखर होने पर भोला अपनी पत्नी और बेटे को फंसाना चाहता था. अगर उसकी पत्नी खिलाफत नहीं करती तो वह ऐसी घटना की प्लानिंग नहीं करता.
रेलवे लाइन पर फेंक देने की घटना महज काल्पनिक
थाना प्रभारी ने बताया कि अगर भोला राम के हाथ पांव बांधकर उसे रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया तो उसे एक खरोंच तक क्यों नहीं आई. अपने बयान में भोला ने बताया है कि मंगलवार की देर रात से बुधवार की अहले सुबह तक वह रेलवे ट्रैक पर पड़ा रहा तो उसे एक खरोच तक क्यों नहीं आई? भोला ने यह भी कहा है कि रेलवे ट्रैक पर पड़े रहने के दौरान उसके ऊपर से 12 से 14 रेलगाड़ियां गुजरी, ऐसे में जिस व्यक्ति के हाथ पांव बंधे रहेंगे और वो रेलवे ट्रैक पर पड़ा रहेगा और उसके ऊपर से रेलगाड़ियां पार करेंगे तो उसे जरूर नुकसान पहुंचेगा, लेकिन भोला के शरीर को देखने से स्पष्ट होता था कि उसे किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ था.
रेलवे की रिपोर्ट में मात्र 7 गाड़ियां ही गुजरी, रेल पटरी पर किसी के पड़े रहने की जानकारी नहीं दी गई

उंटारी रोड के थाना प्रभारी शिव कुमार ने कहा कि छानबीन के दौरान उंटारी रोड रेलवे स्टेशन में पूछताछ की गई. स्टेशन मास्टर ने बताया कि मंगलवार की रात 11 बजे से बुधवार की अहले सुबह तक मात्र 7 ट्रेन स्टेशन से होकर गुजरी थी. सभी मालगाड़ियां थी और रेलवे ट्रैक से गुजरने के दौरान किसी चालक ने यह नहीं बताया कि रेलवे ट्रैक पर किसी को हाथ पांव बांधकर फेंका गया है.
रेलवे में मालगाड़ी सहित सभी ट्रेनों के चालकों को स्पष्ट निर्देशित है कि उनके गुजरने के दौरान अगर रेलवे ट्रैक पर कोई बॉडी या किसी तरह की कोई गतिविधि नजर आए तो उन्हें संबंधित रेलवे स्टेशन को सूचना देना है, लेकिन किसी चालक ने ऐसी सूचना नहीं दी. इससे यह प्रमाणित होता है कि भोलाराम के साथ किसी तरह की कोई घटना नहीं हुई.
रिपोर्ट दिलीप कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!