# Palamu पलामू में नहीं थम रहा है बिजली संकट

LIVE PALAMU NEWS

मेदिनीनगर शहर के बिजली पोल पर तार का जंजाल जाटी (पलामू) :पलामू में नहीं थम रहा है बिजली संकट। पलामू में फ़ुल लोड बिजली मिलने के बावजूद निर्वाध बिजली आपूर्ति नहीं हो रही है। बिजली विभाग का दावा है कि पलामू को 60 मेगावाट बिजली की जरूरत है और यह मिल रही है। ऐसे में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को निर्वाध बिजली नहीं मिलना कई सवाल खड़ा करता है। गर्मी के मौसम में निर्वाध बिजली आपूर्ति नहीं होने से लोगों के समक्ष पेयजल संकट भी उत्पन्न हो रहा है। एक घंटे में 10 से 15 बार बिजली कट हो रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में 8 से 12 घंटे व शहरी क्षेत्रों में 14-15 घंटे ही बिजली मिल रही है। शाम के समय पलामू की बिजली लोड शेडिग के सहारे चलने लगमह है पिक आवर में फुल लोड बिजली नहीं मिल पाती है। इससे उपभोक्ता परेशान है।

बिजली उपकरण पर भी प्रभाव पड़ रहा है। कई बार लोगों के घरों में फ्रीज, टीवी बल्ब इत्यादि फ्यूज हो रहे हैं। कई क्षेत्रों में तो लगातार कई घंटे तक बिजली आपूर्ति बंद रहती है। शहर के कुंड मोहल्ला,हमीदगंज बाजार क्षेत्र में बिजली आपूर्ति घंटों बंद रहता है । सूत्रों के अनुसार फाल्ट मरम्मत करने के कारण बिजली आते-जाते रहती है। फाल्ट मरम्मत के लिए विभाग के पास पर्याप्त मिस्त्री नहीं हैं। काम कर रहे चंद मिस्त्री फाल्ट आने पर फीडर से लाइन बंद करातें हैं फिर लाइन बनाते है। चेक करने के लिए चालू कराते हैं। इस प्रक्रिया में चार-पांच बार बिजली आती-जाती है। दरअसल बिजली उपक्रण काफी पुराना हो गया है। अधिकांश बिजली तार-पोल व ट्रांसफार्मर पुराने हो गए है। हवा के झोंके से ही इन उपक्रणों में खराबी आ जाती है। बाक्स: बिजली मरम्मत के कारण लाइन काटी जाती है। इससे बार-बार बिजली का आना जाना प्रतीत होता है।

क्या कहना है सहायक अभियंता अमित कुमार का

पलामू को फुल लोड बिजली मिल रही है। पिछले दिनों तेनुघाट परियोजना में गड़बड़ी आने के कारण पलामू को 65 की जगह मात्र 35 मेगावाट बिजली ही मिल रही थी। पलामू में अब 55 मेगावाट बिजली मिल रही है।फॉल्ट के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति प्रभावित होती है। सूचना मिलते ही उसकी मरम्मत करा दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!