बाल संरक्षण के लिए समन्वय के साथ कार्य करने की आवश्यकता: आयुक्त

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर: बाल संरक्षण समाज, समाजिक संगठन एवं सभी नागरिकों की जिम्मेदारी है। समन्वय के साथ सभी कार्य करें, तो बच्चों का भला होगा। बच्चों को अपराध से बचाने एवं उनके संरक्षण के लिए संवेदनशीलता के साथ कार्य करने की आवश्यकता है। बच्चों एवं समाज के लोगों को जागरूक कर उनकी सुरक्षा के लिए कारगर प्रयास किए जा सकते हैं। यह बातें आयुक्त जटा शंकर चौधरी ने कही। वे आज चाइल्ड इन नीड इंस्टीट्यूट (सिनी) द्वारा ‘बाल देखरेख संस्थान में बच्चों के गुणात्मक देखभाल, शीघ्र पुनर्वासन एवं संस्थानों में बच्चों की सुरक्षा’ विषयक दो दिवसीय प्रमंडल स्तरीय कार्यशाला में बोल रहे थे।

इस कार्यशाला का आयोजन होटल चंद्रा रेजीडेंसी में किया गया है। आयुक्त ने कहा कि मानवता की सेवा बहुत बड़ी सेवा है। बाल सुरक्षा से आपको जीवन में बड़ी खुशी मिलेगी। इसमें रूचि रखें और क्षेत्र के बच्चों के हित एवं उनकी सुरक्षा के लिए अवश्य काम करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान बच्चे भी अपने अधिकार को समझने लगे हैं। उन्होंने विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से बच्चों के हितार्थ कार्य करने का आह्वान किया।


कार्यशाला में पलामू की जिला समाज कल्याण पदाधिकारी संध्या रानी ने कहा कि कार्यशाला से हम सभी लोग जागरूक हो और बच्चों के मुद्दे पर संवेदनशील होकर कार्य करें। कार्यक्रम में सिनी झारखंड की शिल्पा जयसवाल और सौमी चक्रवर्ती, बाल गृह पलामू के अधीक्षक श्याम बाबू, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी प्रकाश कुमार, संरक्षण केडी पासवान सहित पलामू प्रमंडल क्षेत्र के जिलों के बाल संरक्षण पदाधिकारी, परिवीक्षा अधिकारी, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष व सदस्य, जिलों में संचालित बालगृहों एवं चाइल्डलाइन के प्रतिनिधि उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!