कुणाल सिंह हत्याकांड: डब्ल्यू सिंह का भाई गौरव सिंह पुलिस की गिरफ्त में

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर: पलामू पुलिस के हाथ बड़ी सफलता हाथ लगी है। गैंगस्टर गौतम सिंह उर्फ डब्लू सिंह के छोटे भाई गौरव सिंह उर्फ छोटू सिंह को पलामू पुलिस ने धर दबोचा है और उसे जेल भेज दिया गया है। बता दें कि गौरव सिंह ने शक्ति सिंह के साथ मिलकर कुख्यात गैंगस्टर एक्स-आर्मी मैन कुणाल सिंह की हत्या की प्लानिंग और शूटरों को पैसा मुहैया करवाया था। गौरव सिंह बहरागोड़ा स्थित जेएसएमडीसी में क्लर्क के पद पर कार्यरत है। जबकि शक्ति सिंह फिलहाल जमानत पर बाहर है।

इस संबंध में मंगलवार को प्रेसवार्ता कर एसडीपीओ के. विजय शंकर ने बताया कि गत तीन जून 2020 को कुख्यात अपराधी डब्लू सिंह गैंग ने अपने प्रतिद्वंदी अपराधी कुणाल सिंह की हत्या वर्चस्व की लड़ाई में गोली मारकर कर दी थी। इस घटना की साजिश में कई लोग शामिल हैं। अपराधी डब्लू सिंह तथा उसका छोटा भाई छोटू सिंह घटना के बाद से फरार था। जांच में डब्लू सिंह के छोटे भाई गौरव सिंह की भी इस काण्ड में संलिप्तता पाई गई। जबकि दर्ज प्राथमिकी में उसका नाम नहीं था।

एसडीपीओ ने बताया कि छानबीन में सामने आया कि गौरव सिंह डब्लू सिंह का कैश मैनेजर है। कुणाल हत्याकांड में जेल गए अपराधियों का सारा खर्च (जेल, परिवार, मुकदमा आदि) गौरव के द्वारा ही वहन किया जा रहा था। गौरव के घर से कांड के आरोपियों पर खर्च किए गए लेखा-जोखा की डायरी बरामद हुई है, जिससे इस कांड में गौरव सिंह के शामिल होने का ठोस प्रमाण मिला है।

आगे एसडीपीओ ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि गौरव सिंह शहर से बाहर रह रहा है। उसके घर आने की सूचना पर शहर थाना प्रभारी अरूण कुमार महथा, सअनि सह टीओपी टू प्रभारी रामजीत सिंह, सअनि सह टीओपी वन प्रभारी रेवाशंकर राणा और टाइगर मोबाइल के साथ संयुक्त रुप से कार्रवाई की गई। गौरव को उसके बारालोटा के कचरवा टोला स्थित घर से गिरफ्तार किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!