अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर इप्टा ने आयोजित किया सांस्कृतिक कार्यक्रम

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर: अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर भारतीय जन नाट्य संघ ( इप्टा ) की पलामू इकाई ने मेदनीनगर स्थित सुभाष चौक पर दिहाड़ी मजदूरों के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया। कार्यक्रम के आयोजन से पहले मजदूरों के संघर्ष के इतिहास की चर्चा की गई। चर्चा के दौरान प्रेम प्रकाश ने सन 1886 में शिकागो में मजदूरों के द्वारा काम के घंटे तय करने की मांग को लेकर व्यापक हड़ताल और मजदूरों की साझी शहादत का बखान किया गया। उन्होंने कहा कि हड़ताल के दौरान मजदूरों पर जो गोलियां चलाई गई और जो मजदूर शहीद हुए उनकी कमीज खून से लाल हो गई थी।

मजदूरों के खून से रंगी कमीज आज लाल झंडे के रूप में मजदूरों के का निशान बन गया। मजदूरों के इस हड़ताल का जो परिणाम निकला वह यह था कि मजदूरों को 8 घंटे काम, 8 घंटे आराम और 8 घंटे मनोरंजन के लिए मिलेंगे। जिसका फायदा आज मजदूरों को मिल रहा है। इसके बाद इप्टा के कलाकारों ने शैलेंद्र द्वारा लिखित गीत झूठ से टक्कर लेने को सच्चाई जोश में आई है यह हक की लड़ाई है गीत के साथ कई जनवादी गीत प्रस्तुत किये। गीतों के माध्यम से वर्तमान राजनीति के चेहरे को भी उजागर किया गया। साथ ही मजदूरों से अपील की गई कि आज हमारी बुनियादी जरूरतों को दरकिनार कर धार्मिक व जातीय भेदभाव ने फंसाया जा रहा है।

जरूरत है जातिभेद और धर्म भेद से ऊपर उठकर प्रेम भाईचारा और बंधुत्व के साथ एकजुट रहने की। मौके पर इप्टा के राज्य महासचिव उपेंद्र कुमार मिश्र के साथ प्रेम प्रकाश, राजीव रंजन, शशि पांडे, अजीत कुमार, समरेश सिंह, अमित कुमार, घनश्याम कुमार, अरमान एवं निषाद खान उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!