राज्यपाल रमेश बैस पहुंचे पलामू, रामचन्द्र चन्द्रवंशी विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में हुए शामिल

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर: राज्यपाल रमेश बैस आज विश्रामपुर पहुंचे। जहां उन्होंने रामचन्द्र चन्द्रवंशी विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में विशिष्ट अतिथि के रुप में शिरकत की। मौके पर विश्रामपुर विधायक सह पूर्व मंत्री राम चन्द्र चन्द्रवंशी , पलामू उपायुक्त शशि रंजन , प्रमंडलीय आयुक्त जटा शंकर चौधरी ,डीआईजी राज कुमार लकड़ा,पलामू एसपी चंदन सिन्हा, डीडीसी मेघा भारद्वाज ,एसडीएम राजेश साह, एसडीपीओ सुरजीत कुमार,छतरपुर विधायक पुष्पा देवी, एसडीपीओ अजय कुमार, सिविल सर्जन अनिल कुमार सिंह, डीईओ उपेंद्र नारायण,समेत ज़िले के कई अधिकारी समेत विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्र – छात्राएं उपस्थित थें।

मौके पर राज्यपाल ने सभी विद्यार्थियों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए उन्हें उपाधि प्रदान की।राज्यपाल ने अपने संबोधन में कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानी नीलाम्बर-पीताम्बर की इस पावन भूमि में स्थापित रामचन्द्र चन्द्रवंशी विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह के इस ऐतिहासिक अवसर पर आप सभी के बीच सम्मिलित होकर अपार हर्ष हो रहा है। इस अवसर मैं आप सभी को हार्दिक बधाई व शुभकामनायें देता हूँ, विशेषकर उपाधि ग्रहण करने वाले प्रिय विद्यार्थियों को।

आपकी इस उपलब्धि में योगदान देने वाले सभी शिक्षक और अभिभावक भी बधाई के पात्र हैं । पलामू क्षेत्र वीरों की भूमि रही है। इस माटी में नीलांबर-पीताम्बर जैसे सपूत हुए, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी वीरता से अंग्रेजों का कड़ा मुक़ाबला किया तथा अन्य लोगों को भी आजादी की लड़ाई में सक्रिय योगदान देने के लिए प्रेरित किया। भारत माता के ऐसे वीरों सपूतों को मैं कोटि-कोटि नमन करता हूँ और उनके प्रति अपनी श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूँ। विश्वविद्यालयों में एक बेहतर आधारभूत संरचना का होना अति आवश्यक है। यू.जी.सी. की गाइडलाइन्स और मापदण्डों का पालन भी सुनिश्चित होना चाहिये। विश्वविद्यालय प्रशासन छात्रहित का सदा ध्यान रखें।


यहाँ से पढ़े हुए विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तर पर इस विश्वविद्यालय का नाम रौशन करें और गर्व से कह सके कि जीवन में जो उन्होंने सफलता प्राप्त की है उसमें उनके विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण योगदान है। हमेशा ध्यान रखें कि आप विद्यार्थी इस संस्थान की पूँजी हैं और इसके ब्रांड एम्बेसडर हैं। यह विश्वविद्यालय अपनी उत्कृष्ट शिक्षण शैली से इस क्षेत्र के अन्य शिक्षण संस्थानों को भी प्रेरित करें तथा कभी पिछड़ा व उग्रवाद प्रभावित कहलाने वाला यह क्षेत्र ज्ञान का अहम केन्द्र बने, एजुकेशन हब बने, जहाँ पूरे राज्य व देश के बच्चों के लिए ज्ञान हासिल करना गर्व की बात हो। इसके लिए आपके संस्थान को कठिन परिश्रम करना होगा।


किसी भी शिक्षण संस्थान को समाज का विश्वास प्राप्त होना अति आवश्यक है। इसलिए आपको जन-अपेक्षाओं को पूर्ण करने की दिशा में कार्य करना होगा, जिससे कि विद्यार्थी बेहतर शिक्षा प्राप्त करने के साथ-साथ सामाजिक दायित्वों का भी निर्वहन करें। उन्होंने आगे कहा मेरे प्रिय विद्यार्थियों, आज आप उपाधि ग्रहण कर रहे हैं, अपने आपको सिर्फ डिग्री प्राप्त करने तक ही सीमित न रखें, डिग्री लेना ही आपका मकसद नहीं होना चाहिये। आपको अपने जीवन के कर्म-क्षेत्र में अपनी दक्षता एवं प्रतिभा से एक विशिष्ट पहचान बनानी है। यह विश्वविद्यालय सामाजिक दायित्वों के तहत आस-पास के ग्रामों को भी गोद ले तथा वहाँ के समस्याओं का निवारण करे।कार्यक्रम में विभिन्न संकायों के टॉपरों को गोल्ड मेडल एवं डिग्री प्रमाण पत्र दिया गया। इसके अलावा राज्यपाल ने तेतरी चंद्रवंशी फार्मेसी कॉलेज, विश्रामपुर एवं लक्ष्मी चंद्रवंशी होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर का उद्घाटन भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!