पंचायत चुनाव के दौरान मतदाताओं को रिश्वत या पारितोषिक/उपहार देना अपराध: उपायुक्त

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/मेदिनीनगर: त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन,को लेकर जिले में गतिविधियां तेज हो गयी हैं। निर्वाचन कार्य को सुचारू एवं सुगमता पूर्वक संपन्न कराने के उद्देश्य से विभिन्न कोषांगों का गठन किया गया है। सभी पंचायत क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू है। उपायुक्त ने पंचायत चुनाव के संबंध में सूचना जारी करते हुए कहा कि चुनाव के दौरान उम्मीदवार ऐसा कोई पोस्टर, इश्तेहार, पैम्पलेट या परिपत्र नहीं निकाल सकते हैं, जिसमें मुद्रक और प्रकाशक का नाम और पता अंकित नहीं हो।

किसी उम्मीदवार के निर्वाचन की संभावना पर प्रतिकूल प्रभाव डालने के उद्देश्य से, उसके व्यक्तिगत आचरण और चरित्र या उम्मीदवारी के संबंध में ऐसे कथन या समाचार का प्रकाशन कराना, जो मिथ्या हो या जिसके सत्य होने का विश्वास न हो।इसके अलावा किसी चुनाव सभा में गड़बड़ी करना या विघ्न डालना भी निर्वाचन कानून के अंतर्गत अपराध माना जायेगा। निर्वाचन क्षेत्र में मतदान की समाप्ति के लिए नियत किए गए समय से 48 घंटे पूर्व तक की अवधि के दौरान कोई भी व्यक्ति न तो सार्वजनिक सभा बुलाएगा, न ही आयोजित करेगा और न ही उसमें उपस्थित होगा।मतदाताओं को रिश्वत या किसी प्रकार का पारितोषिक/उपहार देना भी अपराध की श्रेणी में आएगा। मतदान केन्द्र के 100 मीटर के अंतर किसी प्रकार का चुनाव प्रचार करना या मत याचना करना अपराध होगा। उन्होंने मतदाताओं से भी मतदान करने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!