हो जाइए सावधान ! रिपोर्ट बता रही झारखंड में एक्टिव हैं स्लीपर सेल, कभी भी किसी घटना को दे सकते हैं अंजाम

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज/रांची: लोहरदगा में हुए रामनवमी हिंसा में स्लीपर सेल के हाथ होने संबंधित साक्ष्य मिलने से पुलिस के माथे बल पड़ गया है। सबसे खास बात यह है कि ये स्लीपर सेल के सदस्य आम लोगों में घुल मिल कर इस प्रकार रहते हैं कि लोगों को पता ही नहीं चलता कि उनके साथ रह रहा सदस्य एक खूंखार आतंकी है। जो मौका पड़ते ही खून का प्यासा हो जाएगा। पुलिस ने आम लोगों को सावधान करते हुए कहा है कि लोग सतर्क रहें। किसी गतिविधि या व्यक्ति को देख कर शक हो तो तुरंत पुलिस को सूचित करें। एक रिपोर्ट के अनुसार विगत दो वर्षों से लोहरदगा में स्लीपर सेल एक्टिव थे उन पर किसी को भी शक नहीं हुआ। रामनवमी के दिन घटी हिंसा घटना के बाद वे किस खोह में चले गए ये भी पता नहीं चल पा रहा है जो कि काफी चिंतनीय है।


आखिर क्या है यह स्लीपर सेल:-


स्लीपर सेल विशेष संगठनों से जुडे़ वह व्यक्ति होते हैं जो आम लोगों से मिल जुल कर रहते हैं। उन्हें किसी घटना की विशेष जानकारी नहीं होती केवल समय आने पर उन्हें घटना को अंजाम देने को कहा जाता है जिसे वो बखूबी करते हैं। वो आम लोगों की तरह समाज में रहकर जासूसी करते हैं और सूचनाओं को अपने आका तक भेजते हैं। ये स्लीपर सेल कोई भी हो सकता है जैसे कि एक रेहड़ी वाला, किसी दुकान में काम करने वाला, कोई मजदूर, छात्र। ये अपने काम में इतने माहिर होते हैं कि इन पर शक करना नामुमकिन होता है। जब तक ये पकड़ में न आ जाएं लोग इन्हें पहचान ही नहीं सकते।

एनआइए ने स्लीपर सेल से संबंधित जानकारी देने के लिए एक नंबर 011-24368800 जारी किया है। जिस पर कॉल करके किसी भी संदिग्ध की जानकारी दी जा सकती है। सूचना देने वालों की पहचान गुप्त रखी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!