भगवंत मान को जर्मनी में फ्लाइट से उतारे जाने का किया ‘आप’ ने खंडन

LIVE PALAMU NEWS

लाइव पलामू न्यूज: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान एक सप्ताह के जर्मनी दौरे पर गए थे, जहां से वह रविवार देर रात लौटे हैं। जिसके बाद उनकी वापसी पर काफी विवाद छिड़ गया है। दरअसल, शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने दावा किया है कि पंजाब के सीएम भगवंत मान को लुफ्थांसा एयरलाइंस से उतार दिया गया था। सुखबीर के अनुसार एयरलाइंस ने ये कदम इसलिए उठाया क्यों कि सीएम मान ने इतनी शराब पी थी कि वे खड़े होने में भी असमर्थ थें। इसके चलते फ्लाइट चार घंटे लेट हो गई। उन्होंने कहा कि ये रिपोर्ट पंजाबियों को दुनियाभर में शर्मिंदा करने वाली है। बादल ने आगे लिखा, चौंकाने वाली बात ये है कि पंजाब की सरकार मुख्यमंत्री को लेकर इस तरह की रिपोर्ट पर शांत है। इस मामले में अरविंद केजरीवाल को आकर सफाई देनी चाहिए। यदि उन्हें विमान से उतारा गया था, तो भारत सरकार को अपने जर्मन समकक्ष के साथ इस मुद्दे को उठाना चाहिए। दूसरी ओर ब्रिकम सिंह मजीठिया ने भी इस मामले में भगवंत मान पर तंज कसा है।

वहीं आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री भगवंत मान को प्लेन से उतारे जाने की खबरों को निराधार बताया है। आप प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग ने इन आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अपने तय शैड्यूल के मुताबिक दिल्ली लौट आए हैं। ये आरोप निराधार हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री मान ने 18 सितंबर को जर्मनी से फ्लाइट ली थी। वे दिल्ली 19 सितंबर को लौट गए। विपक्ष द्वारा लगाए जा आरोप निराधार और गलत प्रोपेगेंडा वाले हैं।


लेकिन एक वेबसाइट ने एक सहयात्री के हवाले से लिखा है, ‘मुख्यमंत्री नशे में थें। भगवंत मान अपने पैरों पर भी खड़े नहीं हो पा रहे थे। उनकी पत्नी और सुरक्षा में लगे कर्मचारियों ने उन्हें चढ़ाने की कोशिश की थी।’ सहयात्री के हवाले से वेबसाइट ने लिखा सीएम का सामान उतारा जाना था। इसलिए विमान के उड़ान भरने में 4 घंटे की देरी हो गई थी। पंजाब सरकार के अधिकारियों ने लुफ्थांसा एयरलाइन के क्रू मेंबर्स को मनाने की कोशिश की थी, लेकिन उन्होंने नियमों से समझौता करने से इनकार कर दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!