वैक्सीन लगाकर हेरहंज प्रखंड मुख्यालय लौट रहे स्वास्थ कर्मियों नाले मे पानी कम होने का घंटो करना पड़ा इन्तेजार

LIVE PALAMU NEWS

लातेहार/रूपेंद्र कुमार: हेरहंज प्रखण्ड क्षेत्र के तासु पंचायत अंतर्गत भडग़ांव गांव में वैक्सीन टीकाकरण के लिए गए स्वास्थ कर्मियों को भारी बारिश के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। आपको बता दे कि प्रखंड मुख्यालय से भडग़ांव गांव जाने के दौरान एक नाला पड़ता है जिसे लोग पार कर के ही गांव आते जाते है। टीकाकरण के दौरान तेज बारिस होने के चलते नाले में बाढ़ आने के कारण रास्ता बंद हो गया, जिसके चलते स्वास्थ कर्मियों को पानी कम होने का इंतजार देर शाम तक नाले के किनारे करना पड़ा और नाले में पानी कम होने के बाद मुख्यालय वापस पहुंचे।

स्वास्थ्य विभाग के निर्देश एएनएम अरुणा टोप्पो और एम पी डब्ल्यू कर्मा भगत भडग़ांव गांव में लोगो को वैक्सीन लगाने गए हुए थे तभी लौटने के क्रम में नाले में बाढ़ का पानी उतर आया और लगभग दो घण्टे तक स्वास्थ कर्मी बाढ़ का पानी कम होने का इंतजार किनारे मे खड़े होकर करना पड़ा। स्वास्थ कर्मी कर्मा भगत ने बताया कि नाले मे पुलिया क्षतिग्रस्त होने के कारण हमलोग को यह परेशानी उठानी पड़ी।

ज्ञात हो की वर्षो पहले नाले में बने पुल के किनारे का हिस्सा बारिश मे टूटकर बह गया था जिसके बाद किसी ने इसे बनवाने की पहल नही दिखाई जिसके कारण आज भी लोगोंको एक छोर से दूसरे छोर मे बरसात क्र दिनों मे काफी परेशानी होती है।

किसी ने नहीं सुनी ग्रामीणों की गुहार

प्रखंड मुख्यालय से दस किमी दूर भड़ गांव गांव में आज तक रोड का नहीं बना है, जिसके चलते वहां के ग्रामीण जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गांव से लातेहार नवादा मुख्य पथ की दूरी चार किलोमीटर है। रोड नही होने के कारण मुख्य पथ तक जाने मे लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गांव के समाजसेवी  फुल्केस यादव ने बताया कि मुख्यालय तक जाने के लिए यही एक मात्र रास्ता है, जो जगह-जगह पर गढे और बड़े-बड़े पत्थर निकले हुए है। जबकि कई बार विभाग के अधिकारी और पूर्व विधायक के पास ग्रामीण गुहार लगा चुके है, परन्तु आज तक कुछ नहीं हुआ। यदि यहां पर मुख्य पथ और क्षतिग्रस्त पुलिया के स्थान पर नए सिरे से पुल का निर्माण हो जाए तो गांव के लोगो को काफी सुविधा होगी।

एक नज़र  गांव की जनसंख्या पर

हेरहंज प्रखंड के तासु पंचायत के अंतर्गत भड गांव की आबादी 2011की जनसंख्या के अनुसार आठ सौ है, और जिसमे 397 पुरुष और 403 महिलाए शामिल है। यहां पर आदिम जनजाति परिवार के 16 घर, अनुसूचित जनजाति परिवार के 50 घर, यादव परिवार के लगभग 30 घर के लोग निवास करते है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक गांव का कुल भौगोलिक क्षेत्रफल 731.99 हेक्टेयर में फैला हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!