मनरेगा अंतर्गत रिजेक्टेड एफटीओ एवं मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना की हुई समीक्षा

LIVE PALAMU NEWS

स्वीकृत लाभुकों के नाम से एनएससी निर्गत करना सुनिश्चित करें : डीडीसी

लाइव पलामू न्यूज: उप विकास आयुक्त शेखर जमुआर ने बुधवार को मनरेगा अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2013 -14 एवं 2014-15 के दौरान रिजेक्टेड एफटीओ की समीक्षा की।इस दौरान उन्होंने रिजेक्टेड एफटीओ के कारणों की गहनता से समीक्षा की,बताया गया कि इनवैलिड पीओ कोड, इनवैलिड एकाउंट, साइलेंट एकाउंट व अन्य त्रुटियों के कारण कुछएफटीओ को रिजेक्ट किया गया है। इस पर डीडीसी द्वारा डाक अधीक्षक को सभी त्रुटियों का सुधार करते हुए संबंधित मजदूर को अविलंब भुगतान करने की बात कही गयी साथ ही डीडीसी ने मैनुअली तरीके से किए गए मजदूरी भुगतान का प्रतिवेदन भी देने की बात कही।

इसके अलावा डीडीसी ने मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना के स्वीकृत लाभुकों को प्रोत्साहन देय राशि डाकघरों में निवेशित करने संबंधित भी समीक्षा की गयी जहां डीडीसी श्री जमुआर ने सर्वप्रथम मुख्यमंत्री लाडली योजना अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2011-12 से वित्तीय वर्ष 18-19 तक स्वीकृत लाभुकों की संख्या एवं स्वीकृति के पश्चात बच्ची के नाम से डाकघरों में खोले गए खाते/निर्गत NSC से संबंधित जानकारी प्राप्त की। इस पर जिला समाज कल्याण पदाधिकारी नीता चौहान ने डीडीसी को अवगत कराया कि पलामू में वित्तीय वर्ष 2011-12 से लेकर 2018-19 तक के कुल 9888 लाभुकों को स्वीकृति प्रदान करते हुए लाभुकों के नाम से डाकघरों में राशि निवेशित करने हुए वर्षवार चेक के माध्यम से राशि एवं लाभुकों की सूची डाकघर को उपलब्ध करा दिया गया है,

जिसमें से कुल 10639 लाभुकों का NSC निर्गत करते हुए हस्तगत करा दिया गया है एवं 28569 लाभुकों का NSC अबतक निर्गत नहीं किया गया है जिसमें से 25,888 NSC बाल विकास परियोजना पदाधिकारी के स्तर से लंबित है वहीं डाकघर स्तर पर 2681 NSC लंबित है।उप विकास आयुक्त ने डाक अधीक्षक से NSC निर्गत नहीं होने के कारणों की जानकारी ली,बताया गया कि कुछ लाभुकों का KYC व अन्य आवश्यक दस्तावेज नहीं होने के कारण NSC निर्गत पेंडिंग में रखा गया है।

इस पर डीडीसी ने डाक अधीक्षक एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को आपस में बेहतर समन्वय स्थापित करते हुए सभी लाभुकों का NSC निर्गत करने की बात कही।वहीं डाक अधीक्षक ने कहा कि निर्गत NSC का उठाव बाल परियोजना पदाधिकारियों द्वारा अब तक नहीं किया गया है इस पर उप विकास आयुक्त ने सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों को डाकघर से NSC का उठाव अविलंब रूप से करने की बात कही साथ ही पेंडिंग NSC को निर्गत करने हेतु लंबित लाभुकों की सूची,आवेदन एवं KYC से संबंधित दस्तावेज के साथ मुख्य डाक प्रबंधक पलामू से समन्वय स्थापित करते हुए एक सप्ताह के भीतर स्वीकृत लाभुकों के नाम से NSC निर्गत करने पर बल दिया।

इस समीक्षा बैठक में पलामू के मुख्य डाक अधीक्षक, डाकघर के अनुमंडलीय निरीक्षक, समाज कल्याण पदाधिकारी, डीआरडीए के परियोजना पदाधिकारी, डीआरडीए के सहायक परियोजना पदाधिकारी एवं डीआरडीए के कार्यालय प्रबंधक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hello there
Leverage agile frameworks to provide a robust synopsis for high level overviews.
error: Content is protected !!