फादर स्टेन के निधन पर इप्टा ने गूगल मिट के जरिए शोक सभा का किया आयोजन

LIVE PALAMU NEWS
पलामू: न्याय, स्वतंत्रता, क्षमता और मानव अधिकार की सुरक्षा के प्रति समर्पित योद्धा फादर स्टेन स्वामी की न्यायिक हिरासत में इलाज के दौरान 5 जुलाई को मुंबई में निधन हो गया। उनके निधन से झारखंड ही नहीं बल्कि पूरे देश के सामाजिक, सांस्कृतिक व राजनैतिक कार्यकर्ता शोकाकुल है। यह बातें भारतीय जन नाट्य संघ इप्टा की झारखंड इकाई ने गूगल मीट के माध्यम के दौरान कही।

उन्होंने फादर स्वामी के संघर्षों को याद करते हुए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। श्रद्धांजलि सभा में वक्ताओं ने कहा कि फादर स्टेन स्वामी ने झारखंड में 1966 से लगातार आदिवासियों और कमजोर वर्ग के लोगों के हक व अधिकार और सुरक्षा के लिए खुद को समर्पित कर दिया था। फादर स्वामी का निधन स्वाभाविक घटना नहीं बल्कि स्टेट स्पॉन्सर्ड मर्डर है, क्योंकि यह जगजाहिर है कि फादर स्वामी पार्किंसन रोग से ग्रसित थे और खुद से कोई भी कार्य करने में अक्षम थे।

वक्ताओं ने यह भी बताया कि अभी उन्हें एनआईए के द्वारा यूएपीए के तहत भीमा कोरेगांव की घटना में बतौर आरोपी गिरफ्तार किया गया था। जबकि भीमा कोरेगांव वह कभी नहीं गए। गिरफ्तारी के बाद उनकी रिहाई के लिए लगातार आवाज उठती रही। लेकिन सत्ता कान में तेल डालकर सोती रही। न्यायिक हिरासत में फादर स्वामी की मौत एक संस्थानिक हत्या है। इतिहास साक्षी है जो अभी सत्ता में विराजमान हैं उन्हें बूढ़ों से डर लगता है। जब सत्ता में नहीं थे तो उन्होंने गांधी की हत्या की। आज जब सत्ता में विराजमान हैं तो फादर स्वामी की संस्थानिक हत्या की।

इसी प्रकार वरवर राव, सुधा भारद्वाज जैसे कई सामाजिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ सत्ता संस्थानिक हत्या की साजिश कर रही है। जरूरी है इस तरह के साजिश को बेनकाब किया जाए और आदिवासियों, दलितों व कमजोर वर्ग के हक और अधिकार के लिए लड़ाई को जारी रखना, यही फादर स्वामी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। श्रद्धांजलि सभा में इप्टा सहित प्रगतिशील लेखक संघ, अखिल भारतीय किसान सभा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, साझा संस्कृति मंच के प्रतिनिधियों सहित कई बुद्धिजीवियों को पत्रकारों ने भाग लिया और फादर स्टेन स्वामी के संघर्षों को याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।
श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में वरिष्ठ पत्रकार फैसल अनुराग, किसान सभा के प्रांतीय अध्यक्ष केडी सिंह, अरुण कुमार, सीटीआई पलामू के सचिव रुचिर तिवारी व जमशेदपुर इकाई के जिला सचिव शशि कुमार, इप्टा के राष्ट्रीय सचिव शैलेंद्र कुमार, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य उषा आठले, शेखर मल्लिक प्रांतीय महासचिव उपेंद्र कुमार मिश्रा गगन कुमार, अर्पिता श्रीवास्तव , शीतल बागे , शिवांगी पांडे, रवि शंकर, गोपाल सिंह, रमण, व साझा संस्कृति मंच बनारस के धनंजय त्रिपाठी सहित कई लोग शामिल थे। सभा का संचालन प्रेम प्रकाश ने किया। अंत में 1 मिनट मौन रखकर तमाम लोगों ने श्रद्धा सुमन अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!